किन्नर के जननांग या गुप्तांग कैसे दिखते हैं - Hijra ki pahchan kaise hoti hai

Sponser's Links

किन्नर के जननांग या गुप्तांग कैसे दिखते हैं - Hijra ki pahchan kaise hoti hai

किन्नर के जननांग या गुप्तांग कैसे दिखते हैं? Hijra ki pahchan kaise hoti hai? छक्को की पहचान, हिजड़ा की पहचान कैसे होती है? किन्नर की शादी, किन्नरों के बारे में जानकारी, What is hijra? Why are they different? असली महिला किन्नर की पहचान ऐसे करे.

आपने किन्नर को शादी, विवाह, लड़का होने पर या अन्य किसी ख़ुशी के अवसर पर गाते और नाचते हुए जरुर देखा होगा. आपने यह भी कहते हुए सुना होगा कि किन्नर का आशीर्वाद लेना बहुत ही फायदेमंद होता है. परन्तु इसी बीच आपके मन में यह सवाल भी आता होगा कि इन्हें किन्नर क्यों कहा जाता है और इनकी पहचान कैसे होती है?

यदि ऐसा है तो आप दुनियां में अकेले ऐसे नहीं है जो किन्नर की पहचान की जानकारी चाहते है क्योंकि इस बारे में आपसे पहले भी बहुत लोग अपनी इस इच्छा को google पर सर्च कर चुके है. आज हम इस लेख में आपको किन्नर की पहचान के बारे में सही जानकारी देने जा रहे है. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि किन्नर केवल पुरुषों में ही नहीं बल्कि महिलाओं में भी पाई जाती है.

किन्नर के जननांग या गुप्तांग कैसे दिखते हैं?

किन्नर की पहचान आप उसके प्राइवेट पार्ट को देखकर कर सकते है. इनके गुप्तांग नीचे दिखाए गए फोटो की तरह दिखाई देते है.

किन्नर के जननांग या गुप्तांग कैसे दिखते हैं - Hijra ki pahchan kaise hoti hai

किन्नर दो तरह के होते हैं. एक किन्नर पुरुष की तरह दिखाई देता है और दूसरे प्रकार के किन्नर स्त्रियों की तरह होते हैं. किन्नर की पहचान उसके जननांगों के स्वरूप और आकार से होती है. यानि आप किन्नर को तभी पहचान सकते है जब आप उसके जननांग और गुप्तांग को देखते है.

पुरुष किन्नर वो कहलाते है जिनका लिंग पूर्ण विकसित नहीं हो पाता है और यह आकार में बहुत ही छोटा रह जाता है. महिला किन्नर की योनी भी पूरी विकसित नहीं हो पाती है. सुनने में आया है कि इसका छिद्र बहुत ही छोटे साइज का होता है जिसे किसी पुरुष द्वारा सेक्स के लिए प्रयोग नहीं किया जा सकता है. कुछ महिला किन्नरों के स्तनों का आकार भी छोटा ही रहता है.

आपने अब तक केवल उन्हीं किन्नरों को देखा है जो अपने आपको किन्नर मान चुके है और विशेष अवसरों पर घरों में जाकर पैसे और वस्त्रों आदि की मांग करते है. परन्तु आज का हमारा विषय ये है कि पहली बार में यह कैसे निर्धारित किया जाता है कि यह लड़का या लड़की किन्नर है यानि यह ना तो महिला है और ना ही पुरुष है इस बात का खुलासा कैसे होता है.

किन्नर कैसे बनते है?

माना जाता है कि किन्नर बनने के दो कारण होते है. पहला तब जब बच्चा गर्भ में होता है और उसके जननांग और गुप्तांग पूरा विकास नहीं कर पाते है या ये अंग महिला और पुरुष का मिलावटी स्वरुप बन जाते है. इस प्रकार के मिलावटी स्वरुप वाले लोगों की अवस्था को मध्यलिंगता (Inter sexuality) कहा जाता है. इस तरह के बच्चे बड़े होने पर किन्नर कहलाते है. किन्नर बनने का दूसरा कारण यह भी माना जाता है कि किन्नर स्वयं कोई बच्चा पैदा नहीं कर सकता है और वो किसी का बच्चा चुरा लेता है और उसके गुप्तांग की सर्जरी करके उसे नपुसंक बना देता है.

नोट: इस लेख में दी गई सभी जानकारी इन्टरनेट पर पहले से मौजूद जानकारियों के आधार पर है. यदि आपको इसमें किसी प्रकार की गलती दिखाई देती है तो हमें कमेंट के माध्यम से सूचित करें.

Thanks for reading...

Tags: किन्नर के जननांग या गुप्तांग कैसे दिखते हैं? Hijra ki pahchan kaise hoti hai? छक्को की पहचान, हिजड़ा की पहचान कैसे होती है? किन्नर की शादी, किन्नरों के बारे में जानकारी, What is hijra? Why are they different? असली महिला किन्नर की पहचान ऐसे करे.

Post a Comment

0 Comments

Sponser's links

loading...